अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान- 2022 में किसी बड़े दल से गठबंधन नहीं, सरकार बनी तो शिवपाल होंगे कैबिनेट मंत्री

अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान- 2022 में किसी बड़े दल से गठबंधन नहीं, सरकार बनी तो शिवपाल होंगे कैबिनेट मंत्री


इटावा. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने शनिवार को इटावा में ऐलान किया कि समाजवादी पार्टी 2022 में छोटे दलों से गठजोड़ करेगी, लेकिन किसी बड़े दल से कोई तालमेल (Alliance) नहीं करेगी. अखिलेश ने साथ ही ऐलान किया कि चाचा शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) के लिये इटावा की जसवंतनगर की सीट सपा ने छोड़ दी है. यही नहीं सरकार बनने पर उनको कैबिनेट मंत्री बनाया जायेगा. यही नहीं, अखिलेश ने कहा कि उनकी पार्टी को एडजस्ट करने के बारे में भी विचार किया जायेगा.

बसपा, कांग्रेस के कई नेताओं ने ज्वाइन की सपा

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इस दौरान सभी देश-प्रदेश वासियों को दीपावली की बधाई दी. सिविल लाइन आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बसपा के तीन पूर्व जिला अध्यक्ष लाखन सिंह जाटव, जितेंद्र दोहरे, राघवेंद्र गौतम, बसपा की भाईचारा कमेटी के पूर्व विधानसभा प्रभारी वीरू भदौरिया, कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष कीरत सिंह पाल, वामसेफ के पूर्व जिला अध्यक्ष सर्वेश गौतम समेत सैकड़ो की तादात में विभिन्न दलों के नेताओं ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की.

इटावा डीएम आवास को बनाएंगे म्यूजियमअखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार ने इटावा में बहुत बेहतरीन सफारी का निर्माण करवाया है. इटावा-मैनपुरी हाइवे का निर्माण करवाया. यमुना नदी पर पुलों का निर्माण करवाया है. इटावा में एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम का निर्माण करवाया. इटावा में आधुनिक जेल का निर्माण करवाया है. इटावा का विकास केवल समाजवादी पार्टी ने ही करवाया है. खिलाड़ियों की प्रतिभा को निखारने के काम यश भारती सम्मान देकर किया. इटावा का इतिहास भी आज़ादी से जुड़ा हुआ है. डीएम आवास कभी अंग्रेज डीएम एओ ह्यूम का रहा है. समाजवादी सरकार बनने पर डीएम आवास को म्यूजियम बनाया जायेगा.

बीजेपी के जनप्रतिनिधि ही धान खरीद पर उठा रहे सवाल

अखिलेश यादव बोले कि समाजवादी सरकार में लैपटॉप भी मिल जाता था, योगी सरकार कन्या सुमंगला योजना का लाभ देने का दावा करते है, लेकिन किसे मिल रहा है? किसी को कुछ भी नही पता. धान खरीद में गड़बड़ी ही गड़बड़ी है. भाजपा के जनप्रतिनिधि ही धान खरीद पर सवाल उठा रहे हैं.

अखिलेश ने कहा कि कई जिलों को ओडीएफ कर दिया गया, जांच हुई तो पता चला कि वहां शौचालय हैं ही नहीं. ये ही सरकार कहती थी कि किसानों की आय दोगुनी कर देंगे. हम पूछना चाहते हैं कि सरकार बताए कि किसान की आय उन्होंने दोगुनी की है. सरकार की तरफ से तय पैसा क्या धान किसान को मिला? महंगाई बढ़ गई, बिजली की कीमतें कहां पहुंच गईं, इसकी पूरी तरह से दोषी बीजेपी सरकार है.

सीएम को पता नहीं बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे इटावा से जोड़ दिया

अखिलेश ने कहा कि विकास के साथ ही अन्याय, भ्रष्टाचार को जनता के सामने रखेगी. मैंने सुना है शेर इटावा से कहीं और (गोरखपुर) जा रहे हैं. मैं सरकार से कहूंगा कि हमारी इटावा लायन सफारी शुरू कर दें और जितने शेर ले जाना है ले जाएं. उन्होंने तंज किया कि हमें पता है उनके पास एक भी शेर नहीं हैं. ये ही सरकार कहती थी कि गोरखपुर के डॉक्टर हम इटावा और सैफई में ले आए हैं. दरअसल लायन सफारी इसलिए नहीं खोल रहे हैं, क्योंकि जनता इससे समाजवादी पार्टी की तारीफ करेगी. अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री को पता ही नहीं है कि उनके बुंदेलखंड एक्सप्रेस को हमारे इटावा घर से जोड़ दिया है.

जसवंतनगर सीट सप ने छोड़ दी है

आगामी 2022 चुनाव में शिवपाल यादव की पार्टी प्रसपा से गठबंधन के सवाल पर अखिलेश यादव बोले कि उनकी पार्टी को भी एडजस्ट करेंगे. उनके लिए जसवंतनगर सीट सपा ने छोड़ दी है और आने वाले समय मे उनके लोग मिलें, सरकार बनाएं. सरकार बनने पर उनके नेता को कैबिनेट मंत्री भी बना देंगे.

बिहार चुनाव परिणामों पर बोले…

जब एक कार्यकर्ता ने पूछा कि अखिलेश यादव ने कहा कि बिहार में जिस तरह का परिणाम आया, उसके बाद सपा की 2022 में रणनीति क्या होगी? इस पर अखिलेश ने कहा कि रणनीति का खुलासा नहीं करेंगे, नहीं तो उन्हें जानकारी हो जाएगी. अखिलेश ने कहा कि लोकतंत्र में इतना बढ़ा धोखा किसी के साथ नही हुआ होगा, जितना बीजेपी ने वहां के लोगों के साथ किया है. महागठबंधन को बेइमानी से हराया है.

उपचुनाव में सपा की हार पर अखिलेश का बयान

अखिलेश ने कहा कि जब चुनाव वहां के डीएम, एसपी, सीओ और सिपाही लड़ेंगे तो कौन जीतेगा? चुनाव भाजपा नहीं लड़ रही, उनकी सरकार के जितने भी अधिकारी हैं, वे चुनाव लड़ रहे हैं. अखिलेश यादव ने कहा कि सपा 2022 के चुनावों में विकास कार्यो को लेकर और भाजपा सरकार में किए गए भ्रष्टाचार के मुद्दे को लेकर जनता के बीच जाएगी.





Source link

%d bloggers like this: