अलकायदा चीफ अल जवाहिरी की अस्थमा से मौत! आखिरी वक्त पर नहीं मिला इलाज

अलकायदा चीफ अल जवाहिरी की अस्थमा से मौत! आखिरी वक्त पर नहीं मिला इलाज


ओसामा बिन लादने के साथ अल जवाहिरी की फाइल फोटो

ओसामा बिन लादने के साथ अल जवाहिरी की फाइल फोटो

अल जवाहिरी ने 1988 में अलकायदा की स्थापना करने में लादेन की मदद की थी और उसने अफगानिस्तान व पाकिस्तान में संगठन की गतिविधियों का नेतृत्व किया था. बाद में लादेन की मौत के बाद वो अलकायादा का प्रमुख बन गया.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 21, 2020, 8:59 AM IST

काबुल. अफगानिस्तान में आतंकवादी संगठन अल-कायदा के प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी (ayman al-zawahiri) की मौत हो गई है. हालांकि अभी तक अल-कायदा चीफ के कथित मौत की पुष्टि नहीं हो पाई है. अरब न्यूज़ की एक रिपोर्ट के अनुसार, अल-जवाहिरी की कथित तौर पर प्राकृतिक कारणों से मृत्यु हो गई. अरब न्यूज़ ने बताया कि जवाहिरी की मौत अस्थमा के कारण हुई. वह आखिरी बार अमेरिका में 9/11 हमले की बरसी पर एक वीडियो संदेश में दिखाई दिया था.

मई 2011 में पाकिस्तान के एबटाबाद में ओसामा बिन लादेन के अमेरिकी छापे में मारे जाने के बाद अल-जवाहिरी अल-कायदा चीफ बना था. अल-जवाहिरी को मिस्र के इस्लामिक जिहाद ( EIJ) का संस्थापक माना जाता है.यूएस-ग्लोबल सेंटर फॉर ग्लोबल पॉलिसी (सीजीपी) के निदेशक हसन हसन ने कहा कि अल-जवाहिरी की मौत एक महीने पहले प्राकृतिक कारणों से हुई थी, लेकिन अभी भी इसकी पुष्टि नहीं हुई है.

अमेरिका की मोस्ट वांटेड लिस्ट में जवाहिरी
अल-जवाहिरी अमेरिका में आतंकवादियों की “मोस्ट वांटेड” सूची में है. अमेरिकी सरकार ने उस पर अपने नागरिकों की हत्या करने का आरोप लगाया है, जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका के बाहर अमेरिकी नागरिकों की हत्या की साजिश भी शामिल है. अमेरिकी सरकार ने अयमान अल-जवाहिरी पर 25 मिलियन अमेरिकी डॉलर का ईनाम रखा था.अरब न्यूज ने दावा किया है कि बीते हफ्ते गजनी में जवाहिरी की मौत हो गई है. बताया गया कि सही वक्त पर इलाज ना मिल पाने की वजह से जवाहिरी की मौत हो गई. रिपोर्ट में एक पाकिस्तानी अधिकारी के हवाले से भी बताया गया कि जवाहिरी अब इस दुनिया में नहीं है.

370 हटने के बाद कश्मीर पर दी थी धमकी
बीते साल जवाहिरी ने कश्मीर को लेकर भारत को धमकी दी थी. जवाहिरी ने कश्मीर में आतंक भड़काने को लेकर मैसेज जारी किया था. जवाहिरी ने ‘कश्मीर को मत भूलना’ नाम से संदेश जारी किया था. आतंकियों को जेहादी-मुजाहिदीन बताते हुए जवाहिरी ने कहा था कि कश्मीर में लड़ रहे मुजाहिदों को पाकिस्तानी की एजेंसियों के चंगुल से छुड़ाना चाहिए. मुजाहिदीनों को शरिया के हिसाब से अपनी रणनीति बनानी चाहिए. जवाहिरी ने कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबलों के खिलाफ जिहाद छेड़ने को कहा था.

14 मिनट के मैसेज में जवाहिरी ने कहा था, ‘मेरे विचार से कश्मीर में मुजाहिदीन को एकाग्र ध्यान से भारतीय सेना और सरकार पर निशाना साधना चाहिए. उन्हें फियादीन हमलो को अंजाम देना होगा. इससे भारतीय अर्थव्यवस्था पर खासा असर पड़ेगा. साथ ही भारत को सैनिकों की भारी कमी से भी जूझेगा पड़ेगा.’





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *