भूटान में तख्तापलट की साजिश नाकाम! दो जज और एक पूर्व सैन्य अधिकारी हिरासत में


थिंपू. भूटान (Bhutan) में सुप्रीम कोर्ट के एक सीनियर जज, सैन्य अधिकारी और जिला जज को हिरासत में लिया गया है. इन लोगों पर आरोप है कि वे भूटान के चीफ जस्टिस, सेना प्रमुख और वरिष्ठ कानून अधिकारी को पद से हटाना चाह रहे थे. हिरासत में लिए गए सभी लोगों से पूछताछ की जा रही है.

भूटान के सरकारी अखबार कुएंसेल के अनुसार, भूटान पुलिस ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जज कुएनले तर्शिंग को पूर्व सैन्य अधिकारी पूर्व रॉयल गार्ड कमांडर ब्रिगेडियर थिनले टोबेगी और येशी दोरजी (सहयोगी जज) के साथ हिरासत में ले लिया. बता दें भारत के मुख्य न्यायाधीश के रूप में जस्टिस एसए बोबडे नवंबर 2019 को जब शपथ ले रहे थे तब जस्टिस तर्शिंग मौजूद थे. जस्टिस तर्शिंग ने हाल ही में कहा था कि उन्होंने बॉम्बे विश्वविद्यालय में कानून की पढ़ाई की थी.

एक महिला ने षड्यंत्रकारी रिश्ते के बारे में जानकारी दी

रिपोर्ट में कहा गया है, ‘कथित आपराधिक साजिश का मामला तब सामने आया जब कुछ महीने पहले गिरफ्तार की गई एक महिला ने षड्यंत्रकारी रिश्ते के बारे में जानकारी दी. सूत्रों के अनुसार, तीनों कथित तौर पर आरबीए के मुख्य परिचालन अधिकारी, सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और सर्वोच्च न्यायालय के अटॉर्नी जनरल या रजिस्ट्रार जनरल बनना चाहते थे.’

वहीं The Bhutanese के अनुसार ‘कल शाम ऑफिस टाइम खत्म होने के बाद, रॉयल भूटान पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश तर्शिंग और जिला न्यायाधीश येशी दोरजी को हिरासत में ले लिया. न्यायाधीश तर्शिंग को उनके घर से हिरासत में लिया गया था. रिपोर्ट में कहा गया है कि इससे पहले पूर्व रॉयल बॉडी गार्ड कमांडेंट ब्रिगेडियर थिनले टोबगे को हिरासत में लिया गया था.

कुएंसेल अखबार के अनुसार सुप्रीम कोर्ट के जज तर्शिंग और येशी दोरजी  पर 11 आरोपों के साथ मुकदमा दर्ज किया गया था, और पूर्व रॉयल गार्ड कमांडर ब्रिगेडियर थिनले टोबेगी के खिलाफ पांच आरोप लगाए गए हैं. अदालत ने गुरुवार को हुई एक सुनवाई के दौरान इन सभी को जमानत देने से इनकार कर दिया है.



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: